JA Teline V - шаблон joomla Форекс

IT RETURN भरने का आज आखिरी मौका

Business
Typography

नई दिल्ली। इनकम टैक्स रिटर्न की आखिरी तारीख को देखते हुए आज शनिवार को भी देश के सभी आयकर दफ्तर रात 12 बजे तक खुले रहेंगे। लोग दफ्तरों में जाकर मैन्युअल रिटर्न भी फाइल कर सकते हैं। आपको बता दें कि सरकार ने इनकम टैक्स रिटर्न ई-फाइलिंग की समय सीमा 31 जुलाई से बढ़ाकर 5 अगस्त कर दी थी।

इससे उनलोगों को बड़ी राहत मिली है जो किसी वजह से अभी तक आईटीआर फाइल नहीं कर पाए थे। इसके अलावा सरकार ने एक और राहत देते हुए पैन-आधार को लिंक किए बिना आईटीआर फाइल करने की सशर्त छूट दी है। अभी आप आधार और पिन को लिंक किए बिना आईटीआर फाइल कर सकते हैं। इसके बाद 31 अगस्त से पहले इन्हें लिंक करना होगा। इसके बाद ही आईटीआर को प्रोसेस किया जाएगा। हालांकि आईटीआर फाइल करते समय आधार नंबर या आधार रजिस्ट्रेशन नंबर देना पहले की तरह अनिवार्य है।

टैक्स स्लैब

वित्तीय वर्ष 2016-17 के स्लैब के हिसाब से आयकर छूट की सीमा 60 साल से कम के पुरुषों और महिलाओं के लिए 2.5 लाख रुपये है तो अगर आपकी इनकम 2.5 लाख रुपये से ज्यादा है तो आपको इनकम टैक्स फाइल करना चाहिए आयकर विभाग ने भी नागरिकों से टैक्स देने की अपील की है। 60 साल या उससे ज्यादा उम्र के बुजुर्गों के लिए यह सीमा 3 लाख रुपये है जबकि 80 साल या उससे ज्यादा उम्र के बुजर्गों के लिए 5 लाख रुपये तक की आमदनी टैक्स फ्री है।

आईटीआर फॉर्म

80 साल से ज्यादा उम्र के वो लोग जिनकी सालाना आय 5 लाख रुपये से कम है, उनके पास आईटीआर- एक सहज और आईटीआर-चार सुगम फार्म भर कर आयकर रिटर्न भरने का ऑप्शन है। (ये उनके लिए है जिन्होंने किसी तरह के रिफंड का दावा नहीं किया है)

आधार-पैन लिंक

बहरहाल, वित्त मंत्रालय ने पैन को आधार से जोड़ने के बारे में भी स्पष्टीकरण दे दिया था। आपको अपने आधार को 31 अगस्त तक पैन से जोड़ना ही होगा, क्योंकि आपके रिटर्न की पड़ताल तभी होगी जब आपके पैन से आधार जुड़ा हुआ हो हालांकि वित्त मंत्रालय ने कहा है कि अभी रिटर्न दाखिल करते वक्त आधार का या फिर भी आधार के लिए आवेदन की पावती संख्या एकनाॅलोजमेंट नं. का जिक्र करना काफी होगा और रिटर्न भरने का काम पूरा हो जाएगा। अभी इनकम टैक्स रिटर्न के वेबसाइट पर 6.14 करोड़ से ज्यादा लोगों ने रजिस्ट्रेशन करा रखा है लेकिन इनमे से 2.70 करोड़ से कुछ ज्यादा लोगों ने ही पैन को आधार से जोड़ा है, वहीं 1.31 करोड़ से ज्यादा लोग ऐसे भी हैं जो इनकम टैक्स रिटर्न भरने की वेबसाइट पर रजिस्टर्ड नहीं है, फिर भी उन्होंने अपने पैन को आधार से जोड़ा है।