JA Teline V - шаблон joomla Форекс

नीम के तेल से आपकी सेहत और त्वचा को होते हैं ये 12 चौंकाने वाले फायदे

Healthy
Typography

लखनऊ। नीम की प्रयोग आयुर्वेदिक औषधि के रूप में किया जाता है। नीम के बीज से निकाला हुआ तेल हमारे कई काम आ सकता है। नीम के तेल में बहुत सारे औषधीय गुण छुपे हुए हैं। यह तेल बेहद ही सुगंध वाला होता है। ये सेहत और सौंदर्य दोनों के लिए फायदेमंद होता है। इसके अलावा यह कई बीमारियों के लिए भी कारगर होता है।

इसके बारे में विस्तांर से बताते हैं। नीम के पेड़ का हर भाग आपके शरीर के लिए अच्छा है। भारत में प्राचीन काल से यह माना जाता रहा है कि नीम के पत्तों से आने वाली हवा भी स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होती है। ये बातें सिर्फ कहने वाली ही नहीं हैं बल्कि इन बातों में कुछ हद तक सच्चाई भी है। विज्ञान भी नीम के गुणों की बात मानता है और पश्चिमी देशों में इसके गुण काफी लोकप्रिय होने लगे हैं। चाहे नीम के पत्ते हों, नीम की डालें या नीम के फल, इन सबमें काफी बेहतरीन औषधीय गुण होते हैं।

1) नैचुरल मॉइस्चराइजर नीम तेल उन लोगों के लिए सबसे बेहतर जिनकी स्किन ड्राई होती है। इसका कारण यह है कि नीम का तेल विटामिन ई और आवश्यक फैटी एसिड से भरपूर होता है। इससे स्किन को मॉइस्चराइज रखने में मदद मिलती है।1) नैचुरल मॉइस्चराइजर

2) बढ़ती उम्र को रोके नीम में पाये जाने वाले तत्व ऑक्सीकरण रोधक होते हैं जो चेहरे में होने वाले परिवर्तनों को रोक देते हैं। नीम के तेल लगाने से चेहरे की झुर्रियां कम होती है। और आपकी बढ़ती हुई उम्र रूक जाती है। यह आपके त्वचा में कोलेजन का निर्माण भी उत्तेजित करता है, जो आपकी त्वचा को कोमल बनाता है।2) बढ़ती उम्र को रोके

3) बालों को झड़ने से बचाता है अगर आपके बाल झड़ते हैं तो आपको नीम का तेल इस्तेमाल करना चाहिए। इससे बालों के झड़ने से बचाने में मदद मिलती है। इसके लिए, आपको तेल को गर्म करके अपने सिर में लगाना चाहिए। एक घंटे बालों को शैंपू से धो लें।3) बालों को झड़ने से बचाता है

4) बालों को सफेद होने से रोकता है नीम के तेल को बालों पर लगाने से आप उन्हें समय से पहले सफेद होने से बचा सकते हैं। इतना ही नहीं, इस तेल में विटामिन की मात्रा अधिक होती है। इसका मतलब यह है कि इससे आपको बालों को चमकदार बनाने में मदद मिलती है।4) बालों को सफेद होने से रोकता है

5) अस्थमा और फेफड़े के संक्रमण का उपचार करता है नीम के तेल का भाप लेने से अस्थमा के मरीजों को आराम मिल सकता है। क्योंकि तेल में जो यौगिक शामिल हैं वो नेचर में एंटी-हिस्टामिनिक हैं। इसके अलावा, अपने शक्तिशाली एंटीमाइक्रोबियल प्रभाव के कारण यह ज्यादा बेहतर काम करता है। भाप को लेने के लिए थोड़ा पानी उबाल लें, इसमें नीम के 1 से 2 बूंद मिक्स करें। अब अपने सिर पर एक तौलिया रखो और भाप लें।5) अस्थमा और फेफड़े के संक्रमण का उपचार करता है

6) एक्जिमा का इलाज करता है एक्जिमा त्वचा की एक स्व-प्रतिरक्षी बीमारी है, जो तीव्र सूखापन और खुजली का कारण बनती है। इन चकत्ते पर नीम तेल का उपयोग करना बहुत ही अच्छे तरीके से मदद कर सकता है क्योंकि तेल सूखपन को कम करता है और सूक्ष्म जीवों द्वारा माध्यमिक संक्रमणों को रोकता है।6) एक्जिमा का इलाज करता है

7) सोरायसिस के खिलाफ प्रभावी सोरायसिस भी आपके शरीर के अंदर एक ऑटोइम्यून कैस्केड के कारण होता है, जिससे शुष्क, स्केल त्वचा बढ़ जाती है। और नीम का तेल इस तरह से प्रभावी होता है क्योंकि यह एक्जिमा का इलाज करता है।7) सोरायसिस के खिलाफ प्रभावी

8) निशान हटाता है जो लोग मुँहासे से पीड़ित होते हैं, वे अक्सर निशानों से परेशान होते हैं। और नीम तेल उस के लिए एक महान उपाय है। इसका कारण यह है कि नीम के तेल में फैटी एसिड की मात्रा अधिक होती है, जो अशुद्धियों और मुँहासे के निशान को हटाने में मददगार है।8) निशान हटाता है

9) एंटी फंगल गुण होते हैं एथलीट फूट, नाखून कवक जैसे त्वचा रोग फंगल संक्रमण के कारण होते हैं। नीम में पाए जाने वाले दो योगिक ‘गेदुनिन‘ और ‘निबिडोल‘ त्वचा में पाए जाने वाले फंगल को समाप्त करते हैं और संक्रमण को कम करते हैं।9) एंटी फंगल गुण होते हैं

10) जूं से छुटकारा दिलाता है अगर आपके सिर के जूं से परेशान हैं, तो आपको बस इतना करना चाहिए कि अपने सिर पर अच्छी तरह नीम का तेल लगा लें और रातभर लगाकर रखें। अगली सुबह आप अपने बालों से मृत जूँ को बाहर निकाल सकते हैं।10) जूं से छुटकारा दिलाता है

11) डैंड्रफ से राहत दिलाता है बालों को चमकदार, स्वस्थ बाल के लिए,सूखापन दूर करने के लिए नीम के तेल का प्रयोग करें। नीम का तेल नियमित लगाने से सिर की खुशकी दूर होगी जिससे रूसी की समस्या ठीक हो जाएगी। इसके तेल से बाल दो मुंहे भी नहीं होते। गंजेपन की समस्या है तो सिर में नीम का तेल लगाएं। इससे जूएं-लीखें भी दूर हो जाती हैं।11) डैंड्रफ से राहत दिलाता है

12) दांतों और मसूड़ों की मजबूती दांतों और मसूड़ों की समस्या में नीम का तेल की कुछ बूंदों मंजन में मिला कर मले। नीम के तेल में एंटी बेक्टीरियन तत्व पाए जाते हैं जो दांतों में होने वाली समस्यओं जैसे दांतों के दर्द, दांतों का कैंसर, दांतों में सड़न आदि में राहत देता है।12) दांतों और मसूड़ों की मजबूती