JA Teline V - шаблон joomla Форекс

2018 में भारत बनेगा दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी इकोनॉमी

World
Typography

नई दिल्ली। वर्ल्ड इकोनॉमी में भारत बड़ी छलांग लगाने की तैयारी कर रहा है। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत डॉलर टर्म्स में ब्रिटेन और फ्रांस को पीछे छोड़कर अगले साल दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी इकोनॉमी हो जाएगा। भारत का दुनिया की पांच बड़ी इकोनॉमी में शामिल होना दुनिया में एशिया के बढ़ते दबदबे को भी दिखाता है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, अगले 15 साल में ग्लोबल इकोनॉमी में एशियाई देश ही ज्यादा होंगे। ‘सेंटर फॉर इकोनॉमिक्स एंड बिजनेस रिसर्च’ यानि सीईबीआर ने 2018 के लिए यह रिपोर्ट जारी की है। इसमें कहा गया है कि नए साल में ग्लोबल इकोनॉमी की रफ्तार तेज होगी और इसकी वजह सस्ती ऊर्जा और टेक्नोलॉजी होंगे। रिपोर्ट में एशियाई देशों का जिक्र खास तौर पर किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, अगले 15 साल के दौरान ग्लोबल इकोनॉमी में एशियाई देशों का प्रभाव होगा और टॉप 5 इकोनॉमी में भारत की एंट्री को इसी लिहाज से देखा जाना चाहिए।Image result for 2018 में भारत बनेगा दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी इकोनॉमी

भारत के बारे में क्या कहा गया?

सीईबीआर के डिप्टी चेयरमैन डगलस मैक्विलियम्स ने कहा- टेम्पररी दिक्कतों के बावजूद भारत इस वक्त फ्रांस और ब्रिटेन के साथ है। 2018 में डॉलर के लिहाज से भारत इन दोनों देशों को पीछे छोड़कर दुनिया की पांचवी सबसे बड़ी इकोनॉमी बन जाएगा। मैक्विलियम्स ने कहा- नोटबंदी और जीएसटी की वजह से इंडियन इकोनॉमिक ग्रोथ कुछ कम हुई। रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन 2032 तक अमेरिका को पीछे छोड़कर दुनिया की नंबर वन इकोनॉमी बन सकता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यूएस प्रेसिडेंट का प्रभाव ट्रेड सेक्टर में कम नजर आया है। इसके बावजूद अमेरिका ग्लोबल इकोनॉमी में टॉप पर बना रहेगा। ब्रिटेन फ्रांस को पीछे छोड़ देगा।

ब्रेक्जिट का असर ज्यादा नहीं

रिपोर्ट में कहा गया है कि ब्रिटेन के यूरोपीय यूनियन से बाहर आने (ब्रेक्जिट) का असर उसकी इकोनॉमी पर नजर आया है। हालांकि, ब्रेक्जिट को लेकर जिस तरह की आशंकाएं थीं, वो सही साबित नहीं हुईं। रिपोर्ट में कहा गया है कि 2032 तक रूस 11जी रैंक से फिसलकर 17जी पर आ जाएगा। न्यूज एजेंसी ने इकोनॉमिस्ट्स का एक पोल कराया। इसमें कहा गया है कि 2018 में ग्लोबल इकोनॉमिक ग्रोथ 3.6 फीसदी की रफ्तार से आगे बढ़ेगी। इस साल यानी 2017 में यह 3.5 है।